ठंडा पानी पीने के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी

0
544


शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे गर्मियों में ठंडा पानी पीना पसंद नहीं हो। जब आदमी का शरीर तप रहा हो ऐसे में ठंडा पानी बहुत सुकून पहुंचाता है। हालाँकि डॉक्टर के अनुसार पानी को हमेशा सामान्य तापमान पर पीना चाहिए। वहीँ कुछ लोग यह मानते हैं कि गर्म पानी स्वास्थ्य के लिए सही है। लेकिन देख जाए तो हर चीज का फायदा एवं नुकसान होता है। इसी तरह ठंडें पानी के भी फायदे एवं नुकसान दोनों ही प्रभाव मिलते है। तो आइए जानते हैं इसके फायदे

Pic: jantakebol

शरीर के तापमान को सही बनाना – ठंडा पानी पीने के गर्मियों में आप खुद को हाइड्रेट रख सकते हैं। जब आप एक्सरसाइज करते है या उसके बाद भी शरीर का तापमान बहुत अधिक रहता है, इस दौरान तापमान को नार्मल बनाएं रखने में सहायता करता है। इसके साथ ही शरीर की गर्मी को भी अवशोषित करके शरीर को सामान्य अवस्था में लाता है। ठंडा पानी शरीर में पानी की कमी को जल्द ही दूर करने में सहायक होता है क्योंकि ये गर्म पानी की अपेक्षा ठन्डे पानी में तेजी से रक्त में पहुँचने की क्षमता होती है।

त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद – ठन्डे पानी से रक्त संचार बढ़ता है। जिससे त्वचा चमकदार बनने में सहायता मिलती है। ठंडे पानी के पीने से त्वचा तो स्वस्थ होती ही है साथ ही बालों में भी प्राकृतिक चमक देखने को मिलती है। ठन्डे पानी से रोम छिद्र बंद हो जाते है और इसका उपयोग करने से बाल नरम हो जाते है

Pic: medicalnewstoday

हार्मोन्स नियंत्रित करना – एक अध्ययन के माध्यम से यह पता चला है कि ठन्डे पानी के प्रयोग से एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स पर पॉजिटिव असर पड़ता है, इतना ही नहीं इन हार्मोन्स के एक्टिव होने से व्यक्ति की सेक्सुअल लाइफ भी बेहतर होती है। ऐसे में अगली बार आप सामान्य पानी पीते है तो ध्यान दें कि उसमें ठंडा पानी या बर्फ जरूर मिला लें।

तनाव कम करने में मददगार – जब कभी आपको लगे कि आपका मूड खराब हो गया है या आपको तनाव या घबराहट महसूस हो रही हो तो आपको ठंडा पानी पीना चाहिए। अध्ययन से पता चला है ठंडा पानी पीने से मस्तिष्क के ऑर्बिटोफ्रोंटल कॉर्टेक्स जिनका सम्बन्ध हमारे मूड से होता है वो एक्टिव हो जाता है। ऐसे में जब हम ठंडा पानी या बर्फ वाला पानी और ठंडा पेय पदार्थ पीते हैं तो हमारा मस्तिष्क उत्तेजित होता है। और हमारा मन भी खुश हो जाता है।

ठंडा पानी पीने से होने वाले नुकसान

Pic: punjabkesari

पाचन में समस्या -सामान्य तापमान के पानी पीने से पाचन क्रिया ठीक बनी रहती है जो कि ठंडें पानी के पीने से कब्ज की एक प्रॉब्लम हो सकती है। ठंडें पानी के पीने से पेट के अंदर खाना सख्त एवं कठोर हो जाता है,जिसके कारण आतें संकुचित होने लगती हैं, जिससे आगे चल कर मल निकलने में मुश्किल हो जाती है और कब्ज होने की समस्या हो जाती है।

सर्दी -जुकाम- ठंडे पानी पीने से गला दर्द,सर्दी जुकाम तथा श्वसन तंत्र में बलगम जमने लगता है। कई लोगों को साँस लेने में भी तकलीफ होने लगती है।

हृदय दर में कमी और सिर दर्द- कई अध्ययनों से इस बात का पता चलता है, ठंडा पानी के पीने से न सिर्फ हृदय दर में कमी आती है, बल्कि यह वैगस नर्व को भी उत्तेजित करता है। वहीं ठंडा पानी रीढ़ की हड्डी की कई संवेदनशील नसों को ठंडक मिलती है, जिसके परिणाम स्वरूप यह नसें तुरंत मस्तिष्क में संदेश भेजती है जिस कारण तुरंत सिर दर्द होने लगता है।

Pic: timesnownews

मोटापे में वृद्धि – ठंडा पानी पीने से वसा सख्त हो जाती है। शरीर अनावश्यक वसा (फैट) को अवशोषित नहीं कर पाता है। व्यक्ति का इस वजह से वजन बढ़ जाता है हालाँकि खाना खाने के करीब आधे घंटे बाद ही आपको सामान्य तापमान वाला पानी पीना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here