क्या है डाइबिटीज़, कैसे बचें इससे

0
349

बदलते लाइफस्टाइल में डायबिटीज एक बड़ी समस्या बन चुकी है, बदलती जीवनशैली, तनाव, डिप्रेशन और चिंता ने तमाम बीमारियों को जन्म दे दिया है। इन्ही में से एक है मधुमेह जिसे आम भाषा में शुगर की बीमारी भी कहा जाता है। यह एक ऐसी बीमारी है जो कि अधिक उम्र के लोगों को ही नहीं बल्कि आज के समय में युवा और बच्चों को भी शिकार बना रहा है। यह बीमारी ब्‍लड में शुगर की मात्रा बढ़ने से होती है अगर इस बीमारी को ध्यान नहीं देने पर शरीर के दूसरे अंग निष्क्रिय हो सकते है।

डायबिटीज (मधुमेह)क्या है

जब हमारे शरीर में इंसुलिन का स्त्राव कम होने के कारण खून में ग्लूकोज की मात्रा सामान्य के अधिक हो जाता है तो इसी को डायबिटीज (मधुमेह)कहते हैं। इंसुलिन एक हॉर्मोन है जो हमारे पाचन ग्रंथि द्वारा बनता है जिसकी जरूरत भोजन को एनर्जी बदलने में होती है हमारा शरीर इस हॉर्मोन के बिना शुगर की मात्रा को कंट्रोल नहीं कर पता जिससे हमारे शरीर को भोजन से ऊर्जा लेने में कठिनाई होती है। जब ग्लूकोज का बड़ा हुआ मात्रा लगातार खून में मिल जाता है तो यह शरीर के अंगो को नुकसान पहुंचना शुरू कर देता है।

Pic: shawacademy

डायबिटीज (मधुमेह) के कारण
अनुवांशिक – डायबिटीज एक अनुवांशिक बीमारी है यानि कि अगर किसी के परिवार में माता,पिता को हो तो बच्चों को भी हो सकता है। इसके अलावा आपके भाई,बहन को डायबिटीज है तो आपको भी मधुमेह की संभावना हो सकती है।

मोटापा तथा खानपान का स्तर – जंक फूड या फास्ट फूड खाने वाले लोगो में मधुमेह होने की संभावना ज्यादा होती है क्योकि इस प्रकार के खाने में बसा अधिक होती है जो कि हमारे शरीर में कैलोरीज की मात्रा अधिक बढ़ने के कारण जिससे मोटापा बढ़ जाता है

ज्यादा चीनी,चाय,दूध,कोल्ड ड्रिंक्स आदि का सेवन करना

हालांकि डायबिटीज होने के और भी कई कारक है लेकिन पेंक्रियाज ग्रंथी इसका सबसे बड़ा कारण है। पेंक्रियाज ग्रंथी से तरह-तरह के हार्मोंस निकलते हैं, इन्हीं में से हैं इंसुलिन और ग्लूकान। हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी है। इंसुलिन के जरिए ही हमारे खून में, हमारी कोशिकाओं को शुगर मिलती है, जो कि इंसुलिन हमारे शरीर के अन्य भागों में शुगर पहुंचाने का काम करता है।

इंसुलिन द्वारा पहुंचाई गई शुगर से ही कोशिकाओं या सेल्स को एनर्जी मिलती है। डायबिटीज का कारण है इंसुलिन हार्मोंन का कम निर्माण होना। हमारे शरीर में इंसुलिन कम बनता है तो कोशिकाओं तक और रक्त में शुगर ठीक से नहीं पहुंच पाती,जिससे सेल्स की एनर्जी कम होने लगती है और शरीर को नुकसान पहुंचा देता है।

Pic: firstsignsofdiabetessymptoms

डायबिटीज के लक्षण
पेशाब का बार- बार आना -जिस व्यक्ति को डायबिटीज हो जाता है उसे बार -बार पेशाब आने लगता है उनके शरीर में शुगर की मात्रा ज्यादा जमा हो जाता है तो पेशाब के रास्ते से बाहर निकलता है,डायबिटीज रोगी को बार -बार पेशाब लग जाती है|
थकान महसूस होना – भरपूर नींद लेने के बाद भी मधुमेह रोगियों को लगेगा की नींद पूरी नहीं हुई है और शरीर बहुत थका-थका महसूस होगा यही चीजों से पता चलता है कि खून में शुगर की मात्रा लगातार बढ़ रही है|

Pic: pagolmon

बालों का अधिक झड़ना – तनाव और अनुवांशिक होने के साथ -साथ बालो के झड़ने भी इसके कारण हो सकते यदि आप के बाल अप्राकृतिक रुप से जड़ रहे है तो आप अपना ब्लड शुगर के लेवल को जांच कर सकते है|

अत्यधिक भूख लगना – डायबिटीज वाले मरीज को बार -बार भूख लगती है अन्य दिनों की अपेक्षा आदमी की भूख कई गुना बढ़ जाती|
जल्दी से घाव का ठीक न होना -अगर किसी भी व्यक्ति के सब्जी काटते हुए या शेविंग करते समय कट जाने पर घाव का जल्दी ठीक न होना भी मधुमेह का संकेत हो सकता है|

मुँह का बार -बार सुखजाना -मधुमेह रोगी का मुँह हर समय सूखने लगता है जिस कारण प्यास भी अत्यधिक लगती है यह सब मुँह में नमी के कारण हो सकता | आदि बहुत से लक्षण दिखाई देते है जैसे -मसूड़ों में खून का आना ,फेस पर मुंहासे,नजर कमजोर होना ,चक्कर आना ,कमजोरी,बीमार पड़ना ,फोड़े -फुंसिया का निकलना ,अनेक लक्षण से पता लगा सकते है|

Pic: sepalika


ये हैं बचाव
सही आहार का लेना – डायबिटीज रोगियों को अपना आहार में कम कैलोरी,कम वसा वाली सब्जियां, ताज़े फल, साबुत अनाज, डेयरी इसके अलावा फाइबर का भी अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए | खाने में हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, गाजर, टमाटर, संतरा, केला व अंगूर खा सकते हैं। इसके अलावा अंडा, मछली, चीज़ और दही का भी सेवन करने की सलाह दी जाती है।ज़्यादा तेल में तलें आहार या जंक-फ़ूड को न खाएं|

व्यायाम – खाने-पीने के अलावा डॉक्टर व्यायाम और योगासन करने की भी राय देते हैं। रोज़ सुबह के समय में टहलना चाहिये कम-से-कम 30 – 40 मिनट व्यायाम करना बहुत ही महत्वपूर्ण है| योग एवं व्यायाम ग्लूकोज़ लेवल पर प्रभाव पड़ता है|

दवाइयां- डॉक्टर डायबिटीज़ के मरीज़ को बीमारी के अनुसार दवाइयां देता जिसका सेवन करना चाहिए|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here